ADVERTISEMENTS:

Diet Plan for Constipation in Hindi | Home Science

Read this article in Hindi language to learn about the diet plan for people suffering from the problem of constipation.

शारीरिक परिवर्तन (Physical Changes):

अच्छे स्वास्थ्य व आराम के लिए प्रतिदिन मल का निष्कासन अति आवश्यक हें कब्ज वह स्थिति है जब शरीर से निरुपयोगी पदार्थों का निष्कासन ठीक प्रकार से नहीं हो पाता ।

कब्ज मुख्यतया निम्न कारणों से होता है:

i. बचपन से शौच की अच्छी आदत का न होना यानि Dyschzia ।

ADVERTISEMENTS:

ii. बड़ी आँत (Larger intestine) की दीवार के स्नायु संकुचित होकर संकीर्ण हो जाना ।

iii. बड़ी आँत के स्नायुओं की कार्य करने की क्षमता का कम हो जाना ।

लक्षण (Symptoms):

कब्ज होने पर प्रतिदिन मल का निष्कासन नहीं होता है जिससे पेट में भारीपन रहता है । कुछ लोग हफ्ते  में दो बार या तीन बार मल त्याग करते हैं । कब्ज से शरीर में विषाक्त पदार्थ विद्यमान रहते हैं ।

ADVERTISEMENTS:

पौष्टिक तत्वों की आवश्यकतायें (Nutritional Requirements):

कब्ज में पौष्टिक तत्वों की आवश्यकता पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता । व्यक्ति को सामान्य रूप से अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति करनी चाहिये । केवल रेशे की मात्रा आहार में धक होनी चाहिये ।

आहारीय आवश्यकता (Dietary Requirement):

कब्ज में सामान्य आहार ही लेना चाहिये परन्तु उसमें निम्न परिवर्तन करना आवश्यक है:

ADVERTISEMENTS:



(1) साबुत अनाज व दालें, दलिया, चोकर, हरी सब्जी, गर्म दूध, मक्खन, घी और तेल इत्यादि ।

(2) प्रात: काल उठकर एक गिलास गुनगुना पानी पीना चाहिये ।

(3) सोने के पूर्व मुनक्का खाना अधिक उपयोगी होता है ।

(4) घूमना, कसरत करना, समय पर थोड़ा व सन्तुलित आहार, विटामिन ‘सी’ युक्त (अमरूद/आँवला) भोजन कब्ज दूर करने में सहायक होता है ।

(5) ईसबगोल की भूसी खाने से मल की मात्रा बढ़ जाती है तथा निरुपयोगी पदार्थों के बहिष्करण में सहायता मिलती है ।

 

, , , , ,

Kata Mutiara Kata Kata Mutiara Kata Kata Lucu Kata Mutiara Makanan Sehat Resep Masakan Kata Motivasi obat perangsang wanita