ADVERTISEMENTS:

Top 9 Types of Insurance Schemes | Hindi

Read this article in Hindi language to learn about the top nine types of insurance schemes. The schemes are: 1. General Insurance 2. Life Insurance Policy 3. Fixed Term Endowment Policy 4. Endowment Policy 5. Fixed Term Education Scholarship 6. Anticipated Endowment Insurance Policy 7. House Wife Insurance Policy 8. Profitless Insurance Policy 9. Insurance Investment Plan.

भारत सरकार ने जीवन बीमा निगम अधिनियम के अन्तर्गत जीवन बीमा निगम की स्थापना की थी । इसके अन्तर्गत परस्पर समझौते द्वारा भविष्य में दुर्घटना चाहे वह प्राकृतिक या मानव निर्मित कारणों से हुई हानि के लिये इससे सुरक्षा मिलती है ।

इसमें बीमाकर्ता या आश्रित व्यक्ति को पूर्ण निश्चित धनराशि प्राप्त हो जाती है । परस्पर समझौते के अनुसार, बीमा कराने वाले व्यक्ति को प्रतिमाह या वर्ष में एक निश्चित धनराशि का भुगतान करना पड़ता है । इसे ‘प्रीमियम’ कहा जाता है । प्रीमियम तिमाही व छमाही भी हो सकता है । बीमा कम्पनी बीमा करवाने वाले के नुकसान की पूरी कीमत अदा करती है ।

बीमा योजनाएँ निम्न प्रकार की होती हैं:

Type # 1.  सामान्य बीमा (General Insurance):

ADVERTISEMENTS:

इस प्रकार का बीमा चोरी, आग, सूखा आदि के नुकसान का पूरा पैसा देता है । ये अधिकांशत एक वर्ष के लिये ठेके के रूप में किया जाता है । इसमें बीमा कराने वाले व्यक्ति को निश्चित अवधि के बीच में प्रीमियम देना पड़ता है ।

प्रीमियम या बचत राशि इस बात पर भी निर्भर करती है कि ली गई पॉलिसी की कुल धनराशि कितनी है । इसके साथ-साथ पॉलिसी कितने समय के लिये की गई है । बीमा कराने वाले व्यक्ति को यदि किसी भी प्रकार की दुर्घटना से हानि होती है तो बीमा कम्पनी हानि के अनुसार पूरा धन बीमा कराने वाले व्यक्ति को लौटाती है । जो भी हानि होती है, उसका वास्तविक मूल्य या बीमा पॉलिसी की राशि, जो भी कम होता है वही चुकाया जाता है ।

इस पॉलिसी से निम्न लाभ हैं:

(i) यह एक आसान व अनिवार्य रूप से बचत करने की विधि है ।

ADVERTISEMENTS:

(ii) यह किसी भी प्रकार की हानि या दुर्घटना की सम्भावना के प्रति सुरक्षा प्रदान करती है ।

Type # 2. जीवन बीमा पॉलिसी (Life Insurance Policy):

इस योजना के अन्तर्गत व्यक्ति के पूरे जीवन का बीमा होता है । यह भी एक प्रकार का प्रतिबन्ध है और निश्चित अवधि के अन्तराल में प्रीमियम देना पड़ता है । पॉलिसी की कुल राशि और कितनी अवधि के लिये है, प्रीमियम इस बात पर निर्धारित होता है ।

इस अवधि के समाप्त होने पर जमा की गई बचत की राशि ब्याज के साथ वापस कर दी जाती है । यदि बीमित व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो राशि का भुगतान नामांकित व्यक्ति को मिलता है । इस प्रकार आश्रित या नामजद किये गये व्यक्ति को लाभभोगी कहा जाता है । इसमें बीमे का प्रीमियम तिमाही, छमाही या वार्षिक होता है ।

Type # 3. निश्चित अवधि पॉलिसी (Fixed Term Endowment Policy):

इस योजना के अन्तर्गत यदि बीमाकर्ता की निश्चित अवधि से पहले मृत्यु हो जाती है तो प्रीमियम की शेष किस्त दिये बिना बीमे की पूरी धनराशि बीमे में नामांकित व्यक्ति को मिल जाती है ।

Type # 4. बन्दोबस्ती बीमा पॉलिसी (Endowment Policy):

इस योजना के अन्तर्गत बीमाकर्ता एक निश्चित अवधि तक निश्चित धनराशि का भुगतान करता है । यह अवधि समाप्त होने पर बोनस सहित पूरी धनराशि उसे प्राप्त हो जाती है ।

Type # 5. निश्चित अवधि शिक्षा वृत्ति पॉलिसी (Fixed Term Education Scholarship):

ADVERTISEMENTS:



इस योजना के अन्तर्गत शिक्षा को महत्व दिया गया है । इसे केवल शिक्षा के लिए ही लागू किया गया है । इसके अन्तर्गत यदि बीमाकर्ता की मृत्यु अवधि से पूर्व हो जाती है तो शेष किस्तों का भुगतान किये बिना, समय अवधि पूर्ण हो जाने पर बीमा धनराशि का भुगतान वार्षिक या अर्द्धवार्षिक वृत्ति के रूप में वर्षों तक छात्र को प्राप्त होती रहती है ।

Type # 6. प्रत्याशित बन्दोबस्ती बीमा योजना (Anticipated Endowment Insurance Policy):

इस योजना के अन्तर्गत बीमाकर्ता अपनी वृद्धावस्था तथा परिवार में आर्थिक संरक्षण की व्यवस्था करता है । इसमें समयावधि पूर्व मृत्यु होने पर बीमे की पूरी धनराशि उसके नामांकित या आश्रितों को मिल जाती है ।

Type # 7. गृह लक्ष्मी बीमा योजना (House Wife Insurance Policy):

इसमें पति के जीवन का बीमा किया जाता है । जब पत्नी 55 वर्ष की हो जाती है अथवा पति की मृत्यु हो जाती है तो पत्नी को पूर्व निर्धारित मासिक धनराशि आयु पर्यन्त मिलती रहती है ।  यदि पति से पहले पत्नी की मृत्यु हो जाती है तो पूरी धनराशि जो जीवन बीमा निगम को दी गई है वह पूरी की पूरी पति को मिल जाती है ।

Type # 8. लाभ रहित बीमा पॉलिसी (Profitless Insurance Policy):

इस पॉलिसी की प्रीमियम की दर अधिक होती है । इस पॉलिसी में कुछ प्रतिशत बोनस भी मिलता है जो समय अवधि समाप्त होने पर जमा धनराशि के साथ मिलता है ।

Type # 9. बीमा निवेश योजना (Insurance Investment Plan):

यह योजना 14जनवरी, 1999को लागू की गई थी । इस योजना में आयकर अधिनियम की धारा के अन्तर्गत आयकर से राहत का प्रावधान रहता है । इसके अलावा परिपक्व राशि आयकर अधिनियम की धारा 10 (10डी) के अन्तर्गत पूर्णतया आयकर से मुक्त है । कर बचत के बाद 20 से 26 प्रतिशत प्रति वर्ष अधिक चक्रवृद्धि लाभ प्राप्त होता है ।

बीमा निवेश योजना दो प्रकार की होती है । 5वर्षीय एवं 10 वर्षीय । इस योजना पर न्यूनतम बीमा धन 25,000 तथा अधिकतम 5,00,000 रु. होता है । बीमा निवेश योजना पॉलिसी धनी वर्ग उन लोगों के लिए सर्वोत्तम होती है ।

जो आयकर अधिनियम की धारा के अन्तर्गत आयकर  मुक्त ब्याज की तलाश में होते हैं । बीमा निवेश योजना सेवानिवृत्ति के निकट उन लोगों के लिये भी उपयुक्त होती है जो अपनी सेवानिवृत्ति लाभ राशि; जैसे: भविष्य निधि, जी.पी.एफ. आदि अल्पावधि के लिये सुरक्षित एवं उच्च लाभदायी योजना में रखना चाहते है ।

जीवन बीमा के लाभ (Benefit of Life Insurance):

बीमाकर्ता व उस पर आश्रितों को  निम्न लाभ होते हैं:

i. आर्थिक संरक्षण प्राप्त होता है ।

ii. यह एक सुरक्षित निवेश है ।

iii. यह आर्थिक सुरक्षा प्रदान करती है । बीमाकर्ता की मृत्यु या दुर्घटना होने पर आवश्यकतानुसार जमा किया गया धन प्राप्त हो जाता है ।

iv. यह अनिवार्य बचत करने का अत्यन्त सरल उपाय है ।

v. वृद्धावस्था के लिये दृढ़ एवं विश्वसनीय सहारा मिल जाता है ।

vi. प्रीमियम में दी गई राशि पर आयकर से छूट मिलती है ।

vii. भविष्य की आवश्यकताओं के लिये बीमा कम्पनी की पॉलिसी से जमा की गई धनराशि के आधार पर ऋण प्राप्त करके विवाह, मकान बनवाना, उच्च शिक्षा आदि के लिये धन की व्यवस्था हो जाती है ।

, , ,

Kata Mutiara Kata Kata Mutiara Kata Kata Lucu Kata Mutiara Makanan Sehat Resep Masakan Kata Motivasi obat perangsang wanita