Tag Archives | Social Issues

दहेज का दानव । Dowry in Hindi Language

देश में व्याप्त दहेज की कुप्रथा का स्वरूप अत्यंत प्राचीन है । प्राचीनतम धर्मग्रंथ मनुस्मृति में उल्लिखित है, ”माता-पिता कन्या के विवाह के समय दान भाग के रूप में धन-संपत्ति व गाएं आदि कन्या को प्रदत्त कर वर को समर्पित करें ।” पर इस संदर्भ में स्मृतिकार मनु ने इस बात का कोई उल्लेख नहीं […]

दहेज प्रथा: एक सामाजिक कलंक | "Dowry System: A Social Stigma" in Hindi Language

प्राचीन काल से ही मानव-समाज के विकास के साथ उसमें अनेक प्रथाएँ जन्म लेती रही हैं । भिन्न-भिन्न समाज अथवा सम्प्रदायों ने अपनी सुविधा अनुसार प्रथाओं को जन्म दिया, लेकिन किसी भी समाज की प्रथा में उस समाज का हित विद्यमान रहता था । समय के साथ मानव हित में रीति-रिवाजों अथवा प्रथाओं में परिवर्तन […]

दहेज प्रथा: एक कुप्रथा । Article on Dowry in Hindi Language

तीन वर्णों से मिलकर बना ‘दहेज’ शब्द अपने आप में इतना भयानक डरावना बन जाएगा कभी ऐसा इस प्रथा को प्रारंभ करने वालों ने सोचा तक न होगा । दहेज प्रथा हमारे देश में प्राचीनकाल से चली आ रही  है । परंपराएँ, प्रथाएँ अथवा रीतिरिवाज मानव सभ्यता, संस्कृति का अंग है । कोई भी परंपरा […]

बाल-मजदूरी: राष्ट्रीय कलंक | Child Labour in Hindi Language

मासूम, कोमल बच्चे हँसते-खेलते हुए ही अच्छे लगते हैं । जीवन की प्रत्येक चिन्ता से मुक्त मुस्कराता हुआ बचपन जीवन की अनमोल धरोहर बनकर जीवनपर्यन्त समृति में रहता है । न जीवनयापन का बोझ, न ही कर्तव्य-पालन की चिन्ता, केवल हँसना-खेलना और जीवन जीने की कला को सीखने का प्रयास करना, यही होता है बचपना […]

Kata Mutiara Kata Kata Mutiara Kata Kata Lucu Kata Mutiara Makanan Sehat Resep Masakan Kata Motivasi obat perangsang wanita